शिमला : नशा एवं शराब के रोकथाम को लेकर विशेष कार्यक्रम

हि ॰प्र॰ विश्व विद्यालय शिमला  नशा एवं शराब के रोकथाम को लेकर विशेष कार्यक्रमों का अभियान चला रहा है। 15 दिसम्बर 2019 तक चलने वाले इस अभियान के अवसर पर विश्व विद्यालय के संगीत विभाग के अध्यक्ष  प्रो ॰जीत राम शर्मा जी ने Brahmakumari ईश्वरीय विश्व विद्यालय शिमला को इस अभियान में वक्तव्य देने  का निमंत्रण दिया जिसमें शिमला की BrahmaKumari बहनों ने अभियान के सभी प्रतिभागी  विद्यार्थियो को नशे के कारणों वा निवारण बारे विस्तृत जानकारी दी तथा राजयोग मेडीटेशन के अभ्यास से नशों से बचने के सुझाव दिए ।  इसे अपनाने का आग्रह किया।  इसमें 60 से अधिक छात्रों ने कार्यक्रम का लाभ उठाया।  सभी ने राजयोग का अभ्यास भी किया। विभागाध्यक्ष ने बी के बहनों का आभार प्रकट किया।

हिमाचलप्रदेश (शिमला) : नवनियुक्त राज्यपाल बण्डारु दत्तारेय से मुलाकात

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में नवनियुक्त राज्यपाल बण्डारु दत्तारेय से मुलाकात करने एवं उन्हें नए पद की शुभकामनाएं देने के लिए ब्रह्माकुमारीज़ के सदस्य.. राजभवन पहुंचे। इस अवसर पर मुख्यालय माउण्ट आबू से आए वरिष्ठ राजयोग शिक्षक बीके प्रकाश, सुन्नी सेवाकेन्द्र से बीके रेवा एवं बीके धर्मपाल ने मुलाकात की एवं उपसेवाकेन्द्र सुन्नी की मनाए जाने वाली वर्षगांठ पर आने का निमंत्रण दिया। वहीं सदस्यों ने मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर से भी मुलाकात कर ईश्वरीय सौगात भेंट की।

Sunni (Shimla) : Governor of H.P., B. Dattatreya Presides 2nd Anniversary of Sunni Centre as Chief Guest

सुन्नी [शिमला] : गत दिन सुन्नी उप सेवा केंद्र का वार्षिक आध्यात्मिक उत्सव ओम शांति भवन के हाल मे बड़ी धूम-धाम से मनाया गया जिसमे भ्राता बंडारु दत्तात्रेय महामहिम राज्यपाल हिमाचल प्रदेश ने वतौर मुख्य अतिथि भाग लिया । उन्होने अपने उद्गार प्रकट करते हुये ब्रह्माकुमारी बहनो की भूरी2 प्रशंसा की और कहा की मन को शुद्ध व शक्तिशाली बनाना ही उत्कृष्ट मानवीय सेवा है जो काम ये बहने विश्व के 83 देशों मे गाँव2 मे जा कर रही है।


उन्होने आगे कहा कि ऐसी उत्कृष्ट सेवा के लिए ही संभवत: आज हम नवरात्रि पर कन्याओं की पूजा करते हैं जो इन्ही बहनो के द्वारा वर्तमान समय पर किए गए श्रेष्ठ कर्मो कि यादगार है । इस पुनीत अवसर पर उन्होने सुन्नी उप सेवा केंद्र की संचालिका ब्र0कु0 शकुंतला बहन को एक प्रशस्ति पत्र भेंट करके सम्मानित किया और उसके पश्चात जिन भाई-बहनो ने इस पुण्य कार्य मे ब्रह्माकुमारी बहन का तन मन धन तथा समय दे कर सहयोग दिया और इस ईश्वरीय पढ़ाई के चारों विषयों मे पूरे वर्ष 2018-19 मे अच्छे अंक प्राप्त किए, उन्हे भी एक2 प्रशस्ति पत्र दे कर 58 गाँव से पधारे सैंकड़ों लोगो की उपस्थिती मे सम्मानित किया गया ।

इस कार्यक्रम का महत्व तो उस समय और बढ़ गया जब मधुवन अंतर्राष्ट्रीय मुख्यालय से वरिष्ठ राजयोगी भ्राता बी0 के0 प्रकाश दादी काटेज, बी0 के0 रवि भाई अडियो विभाग, बी0के0 राकेश भाई फोटोग्राफी तथा बी0के0 नर सिंह भाई विडियो विभाग ने भी इस उत्सव मे अपनी उपस्थिती दर्ज की । भ्राता बी0के0 प्रकाश ने विशेष एक सुंदर माला मधुवन से आदरणीय दादी जानकी जी की ओर से महामहिम राज्यपाल को पहनाई और सभी को अपनी शुभकामनायें भी दी।

यही नहीं, इस उत्सव मे चार चाँद तो उस समय लग गए जब विशेष हैदराबाद से पधारी ब्र0कु0 अंजलि बहन वतौर मुख्य वक्ता मंच पर विराजमान हुई और उन्होने अपने उद्बोधन से सारी सभा को मंत्र मुग्ध कर दिया।

Shimla – Rakhi Tying to H.E. Kalraj Mishra, Governor of Himachal Pradesh

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय शिमला की तरफ से ब्र कु कृष्णा दीदी ने राज्यपाल भ्राता कलराज  मिश्रा व महिला राज्यपाल  को रक्षा बंधन की यादगार रक्षा सूत्र बांधा।

ADC मोहित चावला जी सहित अन्यों को भी राखी बांधी ।

Art & Culture Wing Program

National conference on theme of Golden World through Golden Culture

Shimla ( 23rd June 2019):National conference on theme of Golden World through Golden Culture was organised by art & culture Wing of RERF Mount Abu Rajasthan in co-ordination with the Brahma Kumaris Centre Shimla Himachal Pradesh. On this occasion many of personalities and artists participated in this program. Candle lighting was done in the presence of 300 participants in Auditorium Hall of Sadbhawna Bhawan Shimla.Chief Guest of the Program was Ms. Dhara Saraswati Head of Programmes Doordarshan Shimla. In his inaugural speech she appreciated the efforts of Art and Culture Wing  Mt Abu for organising a beautiful program in the sense that  this  every artist has achieved its perfection and performance of each one was so heart touching and beautiful that it has un-parallel comparison. She said that she regularly watches the Sister Shivani and today she has  felt that she had returned back to her home. I observed after coming here it was felt that world is one Family and Institution is setting an an example of Women Empowerment. She appreciated every artist that they performed their act with the depth of heart and impressed all the presence. She felt very glad to be a part of such program for the first time in a different environment of spirituality. She admitted that she will make an effort for preserving the our heritage culture of ancient India. BK Satish HQ Co-ordinator explained through his sweet Song explained that Golden Bharat will be soon on the land, before that each of us have to make Our sanskars to be  golden one. BK Dyal, National Co-ordinator ACW emphasized about the Rajyogi life style for the artists. And invited to adopt the life style. BK Nitin Bhai surprisingly sung duet songs with single tongue.He emerged as all time best performer.The Cultural groups from HP University Musical department headed by Prof. Jeet Ram Sharma, Head of Classical Music invited his Gurbani Group to present Gurbani. DR. Tek Chand & Party’s performances were very melodious. The Welcome Song by Kumari Rachna, Leena & others was  good. Mr. Rakesh Sharma Dy Mayor Shimla appreciated all the Guests and participants for joining . BK Indira Ben through her commentary made every participant to experience the deep spiritual silence in Auditorium.

 

 

Shimla: H.E. Aacharya Dev Vart, Governor of HP Inaugurates Scientists & Engineers Conference

महमहिम आचार्य देवव्रतहिमाचल प्रदेश के राज्यपाल ने किया खुशनुमा जिंदगी पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का उद्घाटन

पर्वतीय  राजघानी शिमला स्थित ब्रह्माकुमारीज़ सेवाकेंद्र के सभागार में विज्ञान एवम तकनीकी प्रभाग के और से आयोजित खुशनुमा जिंदगी पर नेशनल सेमिनार का उद्घाटन महामहिम आचार्य देवव्रत, राज्यपाल हिमाचल प्रदेश एवम बहिन दर्शना देवी, लेडी गर्वनर ने आपने कर कमलो से दीप प्रज्जवलन करके किया।  उन्होंने अपने  उद्घाटन भाषण में कहा खुशनुमा जिंदगी के लिए अपने जीवन को ईश्वर के प्रति समर्पित करे, अच्छों से दोस्ती करे एवम दीन असहाय पर दया करें। सदा सुखी रहने के लिए छः चीजों से दुर रहे वे है ईर्ष्या, घृणा, क्रोध, शक्की स्वभाव, एवं परआश्रित जीवन।  

भ्राता मोहन सिंघल, उपाघ्यक्ष, विज्ञान एवं तकनीकी प्रभाग, माउंट आबू ने राज्यपाल महोदय एवं सभी का ह्रदय से अभिनन्दन किया तथा खुशनुमा जिंदगी के लिए आध्यात्मिक ज्ञान का वैज्ञानिक स्पष्टीकरण किया उन्होने यह भी बताया कि पुरे राष्ट्र भर से लगभग 150 इंजीनियरों एवं वैज्ञानिकों ने भाग लिया। भ्राता भरता भूषण, नेशनल कोऑर्डिनेटर , विज्ञान एवं तकनीकी प्रभाग, ने  खुशनुमा जिंदगी जीने के 4 सूत्र बताए, सकारात्मक सोच, हरेक के प्रशंसा करे, निस्वार्थ सेवा कर दुआए कमाए एवं राजयोग का अभ्यास करे.

बी. के. लक्ष्मी, कपूरथला ने राजयोग का अभ्यास कराया। बी. के. ज्योति, हमीरपुर ने राज्यपाल महोदय को शाल ओढ़ा कर अभिनन्दन किया. बी. के. अरुणा, सर्कल इंचार्ज, शिमला ने ईश्वरीय उपहार भेंट कर गर्वनर एवं लेडी गर्वनर का अभिवादन किया। बी. के. ज्योति, पानीपत ने सफल मंच संचालन किया। इस राष्टीय संगोष्ठी में लगभग 500 लोगों ने भाग लिया.

H.E. Acharya  Dev Vart, Hon’ble Governor of Himachal Pradesh inspired everyone in his inaugural speech after lighting a candle to lead ever happy life by surrendering yourself to Supreme Power God, by having the company of Great persons, by helping poor people. To remain happy life avoid six – 1. Jealousy 2. Hatredness. 3 Dissatisfaction  4. Anger 5.Doubtful nature and 6. Dependencies

Bro. Mohan Shingle, Vice-chairperson of SEW welcomed H.E. and every one by explaining scientific explanation of spiritual knowledge. He. also explained that about 150 engineers and scientists participated from all over India in this seminar.

Bro. Bharat Bhushan. National Coordinator SEW explained the 4 tips of Khushnuma Jindgi in his  Keynote address which are Positive Attitude, Appreciate everyone, earn the blessings  & Practise Meditation.

Sunni (Shimla) – सुन्नी सेवाकेन्द्र के प्रथम वार्षिक उत्सव कार्यक्रम- ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज्यमंत्री भ्राता वीरेन्द्र कंवर रहे मुख्य अतिथि


सेवाकेन्द्र के प्रथम वार्षिक आध्यात्मिक उत्सव कार्यक्रम- सुन्नी सेवाकेन्द्र (सेवा-समाचार)

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के सुन्नी सेवाकेन्द्र द्वारा ओमशान्ति भवन, सुन्नी में प्रथम वार्षिक आध्यात्मिक उत्सव का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज्यमंत्री, हिमाचल प्रदेश, भ्राता वीरेन्द्र कंवर बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे।

मुख्य अतिथि ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज्यमंत्री भ्राता वीरेन्द्र कंवर द्वारा दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरूआत की गई। अपने सम्बोधन में उन्होंने संस्था को आध्यात्मिक उत्सव के आयोजन के लिए बधाई दी। उन्होंने संस्था द्वारा समाज सुधार के लिए किये जा रहे कार्यों, युवा को नशे से बचाना, अंधविश्वास के विरूद्ध जागरूकता, तनावमुक्त समाज की बाहर-भीतर से स्वच्छता आदि कार्यों की प्रशंसा की। साथ ही संस्था द्वारा किसानों को अध्यात्म से जोड़कर कृषि कार्यों को सम्पादित करना तथा पारम्परिक शाश्वत यौगिक खेती अपना कर पौष्टिक अन्न का उत्पादन करने, जिससे आने वाली पीढ़ी को रासायनिक खादों से होने वाले कुप्रभावों से बचाया जा सके, जैसे कार्यक्रमों की सराहना की।

संस्था के मुख्यालय माउण्ट आबू से बी.के. प्रकाश, वरिष्ठ राजयोगी कार्यक्रम शामिल रहे। कार्यक्रम में पूर्व साँसद भ्राता सुरेश चन्देल, विधायक हीरालाल, भाजपा बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के संयोजक डॉ. प्रमोद शर्मा, बहन बीना ठाकुर, तहसीलदार राजेश वर्मा, बहन शकुन्तला, भाई रेवादास, जालंधर, हमीरपुर, शिमला, बिलासपुर, मण्डी, सुन्नी क्षेत्र के 53 गाँवों के लगभग 800 भाई-बहन उपस्थित हुए।

संस्था सुन्नी क्षेत्र के 53 गाँवों में कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि हिमाचल सरकार संस्था के समाज सुधार कार्यक्रमों में संस्था के साथ खड़ी है। हिमाचल सरकार मिशन से जुड़े गाँवों में लिंक रोड बनाने, पीने के पानी की व्यवस्था करने, चैक डैम बनाने, भारत निर्माण सेवाकेन्द्र, आदर्श गाँव निर्माण आदि कार्यक्रमों से जोड़कर सहायता करेगी।

कार्यक्रम के अन्त में संस्था द्वारा अतिथियों को स्मृति-चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के पश्चात् सभी भाई-बहनों को ब्रह्मा-भोजन भी स्वीकार कराया गया।

Godly services in 19th Battalion Sarahan Shimla.

 Bk Sisters Krishna and Savitri and Renu Ben from Rampur Bushahr (Shimla) did Godly services in 19th Battalion Sarahan Shimla.
All paramillitary staff and personnel were given one day session of Rajyog Meditation in Sarahan Ground Camp. All the Jawans were
trained how to get connected to supreme source of peace through Ragyog meditation.bout 400 Paramilitary jawans participated in the IYD
program.